हिंदू धर्म के पवित्र ग्रंथ

रामायण, महाभारत और भगवद गीता - महत्वपूर्ण तथ्य

24,000 छंदों की रामायण ऋषि वाल्मीकि द्वारा संस्कृत में रची गई है । इसे 6 कांडों में विभाजित किया गया है, बाल कांड, अयोध्या कांड, अरण्य कांड, किष्किन्धा कांड, सुंदर कांड, युद्ध कांड । आम तौर पर माना जाता है कि सातवां कांड, उत्तर कांड बाद में जोड़ा गया है ।
रामायण के तमिल संस्करण - इरामवतारम(राम के अवतार) के लखक कंबन है ।
रामायण के तेलुगु संस्करण - रंगनाथ रामायणम के लखक गोना बुद्धा रेड्डी है ।
रामायण के बंगाली संस्करण - कृत्त्वासी रामायण के लखक कृत्तीबास ओझा है ।
रामचरित मानस की रचना तुलसीदास जी ने अवधी में की थी ।
वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत विश्व का सबसे बड़ा ग्रंथ है । इसमें 1,00,000 छ्न्दों को 18 पर्वों में विभाजित किया गया है ।
700 श्लोकों की भागवाद गीता महाभारत का ही भाग है ।

वेदों पर याद रखनेवाले कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

वेदों की रचना कृष्णद्वैपायन ने की थी जिन्हे वेद व्यास के नाम से भी जाना जाता है ।
वेदों की रचना वैदिक संस्कृत में की गई है ।
चार वेद - ऋग्वेद, यजुर वेद, साम वेद और अथर्व वेद हैं ।
ऋग्वेद वेदों में सबसे प्रचीन और विशालतम है ।
ऋग वेद में विभिन्न देवताओं की प्रशंसा के स्तोत्र समाहित है | अधिकतर स्तोत्र ईंद्र और अग्नी देव को समर्पित है ।
गायत्री मंत्र ऋग्वेद में वर्णित है । यह सूर्य देवता को अर्पित एक मंगलाचरण है ।
साम वेद लगभग पूरी तरह से ऋगवेद पर आधारित है ।
भारतीय शास्त्रीय संगीत का श्रोत साम वेद को माना गया है ।
यजुर्वेद में दो शाखा हैं - कृष्ण यजुर्वेद और शुक्ल यजुर्वेद ।
यजुर्वेद में प्राचीन संस्कारों के साथ पढ़े जाने वाले मंत्र हैं ।
अथर्ववेद में मुख्य रूप से जादू, चमत्कार, चिकित्सा, विज्ञान और दर्शन के मन्त्र हैं ।
आयुर्वेद का उद्गम अथर्व वेद में है ।
चार उपवेद आयुर्वेद, धनुर्वेद, गंधर्ववेद (संगीत), और शिल्पवेद (कला और वास्तुकला) हैं ।

प्रमुख उपनिषद — 13

उपनिषद मूल वेद उपनिषद मूल वेद
ऐतेरेया उपनिषद ऋग्वेद बृहदारण्यिक उपनिषद यजुर वेद
कौषीतकि उपनिषद ऋग्वेद तैत्रीय उपनिषद यजुर वेद
छांदोग्य उपनिषद साम वेदकथा उपनिषद यजुर वेद
केन उपनिषद साम वेद मुंडक उपनिषद अथर्व वेद
मैत्री उपनिषद यजुर वेद मांडूक्य उपनिषद अथर्व वेद
इसावास्य उपनिषद यजुर वेद प्रश्न उपनिषद अथर्व वेद
श्वेताश्वतर उपनिषद यजुर वेद

भारत के वैदिक दर्शन

दर्शन द्वारा स्थापित
सांख्य अथवा ब्रह्मांडीय सिद्धांत कपिल
योग पतंजलि
न्याय अथवा तार्किक सिद्धांत गौतम
वैशेषिक अथवा परमाणु सिद्धांत कणाद
पूर्व मीमांसा अथवा वेदान्त सिद्धांत जैमिनि
उत्तरा मीमांसा सिद्धांत व्यास



© www.leadthecompetition.in    Copyright Policy